घर बैठकर काम करना भी हुआ आउट-डेटिड “को-वर्किंग सैंटर्स” फ्री लान्सर्स की नई पसंद!

co-working-2-3-1लेखनी: कृति कुलश्रेष्ठ                                                                                    NSoJ ब्यूरो

फ्री लान्सिंग की दुनियाँ में आज एक नया ट्रैंड जुड़ गया है जिसे “को-वर्किंग सैंटर्स” के नाम से जाना जाता है । अगर आप भी अपना कोई कारोबार खड़ा करना चाहते हैं या अपनी बुटीक़ खोलनी है या और भी कुछ ऐसा काम जिसके लिए आपके पास अपना अ‍ॅफिस चलाने के लिए जगह नहीं है या फिर बस थोड़ा समय शांति से बिताना है तो, अब अपको और परेशान होने की ज़रूरत नहीं है क्योंकि अब आपको अ‍ॅफिस के लिए अलग से जगह नहीं लेनी होगी बल्कि अब आपके पास एक दूसरा विकल्प भी है जहाँ आप “को-वर्किंग सैंटर्स” का इस्तेमाल अपने अ‍ॅफिस की तरह कर सकते हैं । सुबह जाईए फीस भरिए और शाम को काम ख‌‌‌‌‌तम करके घर वापस । और दूसरी बड़ी सहूलियत ये कि अब आपको घर पे अकेले बैठकर काम करने के बजाए एक ऐसी जगह मिलेगी जहाँ आप काम भी कर सकते हैं और साथ में दोस्तों के साथ समय भी बिता सकते हैं।  अगर कोई बैठक या कार्यक्रम का अयोजन करना है तो उसका भी पूरा इंतज़ाम है, पार्ट हॉल और बैठक हॉल के रूप में । तो हो गया ना अब व्यापार करना असान और अब जगह कि भी कोई चिंता नहीं!  है ना बिलकुल आपकी ज़रुरत के मुताबिक! ऐसा प्रतीत होता है मनों कोई मज़ाक कर रहा हो मगर ये सच कर दिखाया है हमारे शहर के नुमा  -“को-वर्किंग सैंटर” ने जो आपको काम बिना किसी परेशानि के करने की सहूलीयत देता है ।

“आज की सूपर फास्ट पीड़ी सब कुछ सहजता से और जल्दी चाहती है और इस दुनियाँ में हुनर, हौंसला, जज़बा खूब मिलता है मगर वो फन जहाँ मात खा जाता है, ज़रूरत है वहाँ कुछ करने की । आज के दौर की इसी सोच को सरहाता है नुमा और  “को-वर्किंग सैंटर्स” जो अज-कल दुनियाँभर में काफी लोकप्रियता हासिल कर रहे हैं, इसी का एक प्रतिरूप हैं । हमने भी देखा कि हमारे देश में भी काफी अनदेखी ज़रूरतें हैं जिन्हें मदद की दरकार है, और इसलिए हमने ये “को-वर्किंग सैंटर” अपने शहर में भी  शुरू करने के बारे में सोचा..नरेश नरसिमन (सी.ई.ओ,ऐवं संस्थापक नुमा,को-वर्किंग सैंटर, बैंगलूरू)।

बदलते दौर में आज ज़रूरतों के साथ-साथ उन्हें पूरा करने के तरीके भी बदलने लगे हैं । दुनियाँ तेज़ी से भाग रही है और नए-नए तरीके हमें उस रफ्तार के साथ कदम से कदम मिलाकर चलने में सहायता करने को सदा तत्पर हैं । डिजिटल होती दुनियाँ जहाँ एक तरफ हर बंदिशें तोड़ रही है वहीं दूसरी तरफ हमारी दोनियाँ एक छोटे से यंत्र मोबाइल और उसकी अनेक ऐप्लिकेशनस में बस गई है । ई- बैंकिंग, ई-शौपिंग, सर्फिंग, ई-पेपर्स, मनोरंजन, ज्ञान, खेल, खबर , काम आदि सबकुछ जो दिमाग में आए वो मान लीजिए हुज़ूर सब सम्भव है यहाँ.!

“तो क्यों न कुछ ऐसा किया जाय जो हुनर, हौंसला और जज़बे को एक मच दे सके या यूँ कह लीजिए कि एक ऐसी जगह दें जहाँ वो अपने काम को ऊँचाइयों तक ले जा सके और अपना भी एक करोबार खड़ा कर सके बस ये ही सोच लेकर नुमा आया है । यहाँ कोई भी कभी भी आ सकता  है और शांति से बैठकर अपना काम कर सकता है । यहाँ मुफ्त वाई-फाई और मुफ्त कॉफी के साथ अगर किसी भी प्रकार की सहायता या जनकार से कोई सलाह चाहता है तो वो भी मोहैया कराई जा सकती है । हमारा काम करने का तरीका काफी सहाज और लोगों कि ज़रूरतों को ध्यान में रखकर ही बनाया गया है यही वेजह है कि यहाँ आने वालों के साथ सम्बंध काफी व्यवहारिक हैं।..” निवेधिता आचार्या (मैंनेजर, नुमा बैंगलूरू)।

“को-वर्किंग सैंटर्स” यकीनन ही एक अच्छी सोच है और ये काफी सहायक भी है खासकर हम जैसे नए हुनर के लिए जिन्हें अपना काम शुरू करने के लिए काफी तोड़-जोड़ करनी होती है । ऐसे में -“को-वर्किंग सैंटर्स” काफी अच्छी और नई पहल है जो मददगार भी है..दोसरी अच्छी बात ये है कि बजाए इसके कि आप घर पे अकेले बैठकर काम करो उससे अच्छा है कि आप यहाँ आके बैठो, अच्छे लोगों से मिलो विचारों के आदान-प्रदान के बीच काम और भी रोचक हो जाता है । आप कितनी भी देर तक बिना ऊबे काम कर सकते हैं…” कुशाल (फ्री लांसर, कोंटैंट राईटर)

“ये ही नहीं अगर आप एक स्टूडेंट हैं या कभी यूँहीं अगर आपको शांति में समय व्यतीत करना है तो आप भी यहाँ कभी भी आ सकते हैं और एक ममूली सी फीस भरकर फ्री वाइ-फाई और कॉफी का मज़ा ले सकते हैं । हमारा एक छोटा सा किताब संग्रह भी है जिसे आप कभी भी इस्तेमाल कर सकते हैं । हमारा नुमा परिवार हमासे काफी खुश है और हम ये इसलिए भी कह सकते हैं क्योंकि यहाँ जो भी अब तक आया है वो आज भी हमसे जुड़ा हुआ है..”  निवेधिता आचार्या (मैंनेजर, नुमा बैंगलूरू)।

“पिछ्ले दो साल में हमेंने काफि तरक्की कि है क्योंकि ये हमेशा से ही बड़ी परेशानी थी और जब लोगों को इसके बारे में पता चला तो उन्हें काफी पसंद आया।“…क्लैरिसे टोनोन ( इनोवेशन प्रिजेक्ट मैंएजर, नुमा)|

 

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s